कैसे काम करता है इंटरनेट, पूरी दुनिया में एक साथ? पढ़िए पूरी खबर।

Spread the love

आज के समय में हम तीन घंटे के लिए खाने के बिना रह सकते हैं और पीने के पानी के बिना रह सकते हैं,पर इंटरनेट के बिना १ घंटे भी नहीं रह सकते।आज के समय में इंटरनेट सबसे महत्वपूर्ण चीज़ बन गई है और सभी इसका इस्तेमाल करते है। पर हमने कभी भी सोचा नहीं है की इंटरनेट कैसे काम करता है। कभी किसी व्यक्ति को कम गति मिलती है या तो किसी को ज्यादा मिल जाती है, अलग-अलग ऑपरेटर अलग टैरिफ योजनाएं  क्यों देती हैं? और इस इंटरनेट का मालिक कौन है? इंटरनेट हमारे पास पहुंचता कैसे है? अगर आपके मन में भी कभी ऐसे सवाल उठे है और आपको उनका जवाब नहीं मालूम है तो आपको चिंता करने की जरुरत नहीं है। आज हम आपको उसी के बारे में जानकारी लेंगे। निचे पढ़ते रहिये आपको आपके सारे सवालो के जवाब मिल जायेंगे।

तो दोस्तों दुनिया भर में सब लोग यह इंटरनेट से जुड़े हुए है, लेकिन हमने कभी नहीं सोचा कि इंटरनेट कैसे काम करता है, आपको लगता होगा कि यह उपग्रह पर चल रहा है, लेकिन दोस्त आप लोग  नहीं जानते हैं इंटरनेट 99.99 प्रतिशत चलता है ऑप्टिक फाइबर केबल से। आप सोच रहे हैं कि अगर मैं मोबाइल से इंटरनेट चला रहा हूं तो मोबाइल पर तो कोई केबल है नहीं। लेकिन यह इंटरनेट हमारे देश में लगाए गए नेटवर्क टावर के द्वारा हम तक पहुँचता है। यह नेटवर्क हमे मिलते मिलते तीन अलग अलग कंपनी के माध्यम से प्राप्त होते है।

टीआर 1 कंपनी एक ऐसी कंपनी है जिसकी दुनिया भर में समुद्र में पैक की गई अपनी केबल है। दोस्तों इंटरनेट नि:शुल्क है। लेकिन टीआर १ कंपनी अपने लगाए हुइ केबल के लगते हुए मेंटेनेंस के पैसे लगाती है। पूरी दुनिया में उसने अपने केबल समुद्र में डाले हुए है और उसके बाद वह सब देशो को इंटरनेट से जुडी सर्विस देते है।

उपरोक्त फोटो वह केबल है जिसे आप देख रहे हैं। यह केबल पूरे विश्व के देशो को समुद्र के जरिये इंटरनेट से जोड़ता है, और इस केबल को ऑप्टिक फाइबर या सबमरीन केबल भी कहा जाता है। दिखाए गए केबल के अंदर एक छोटी सी केबल होती है जो पैक होती है, जो काफी पतली और छोटी होती है और प्रत्येक केबल के अंदर 100GB पर सेकंड की गति होती है।

टी.आर. १  कंपनी के साथ एक टी.आर. २ कंपनी है जिसने भारत देश मेंअपने टावर लगाए है, और वहाँ से सेवा प्रदान कर रही है, रिलायंस, आइडिया सेल्युलर और वोडाफोन इंटरनेट के रूप में नेटवर्क की अनुमति देता है, वह टी.आर. २ कंपनी है । रिलायंस जिओ भी  एक टी.आर. २ कंपनी है । जि हां रिलायंस इंडस्ट्रीज अपने केबल को एशिया भर में पैक किया है ताकि वह लोगों को मुफ्त इंटरनेट दे सकें। यह एक ऐसी कंपनी है जिसके पास भारत के सबसे ज्यादा निजी टावर है। 

Images Source: Google Images

Spread the love

One thought to “कैसे काम करता है इंटरनेट, पूरी दुनिया में एक साथ? पढ़िए पूरी खबर।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *